जिले के 97%  संस्थानों का हुआ पंजीयन 

•स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी व लोगों तक इसकी आसान पहुंच है कार्यक्रम का उद्देश्य

•पंजीकृत होंगे स्वास्थ्य संस्थान व चिकित्सा कर्मी, आम नागरिकों का डिजिटल हेल्थ कार्ड

किशोर कुमार ब्यूरो 

मधुबनी-केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में देश में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत की गयी है। योजना का मुख्य उद्देश्य स्वास्थ्य सुविधाओं का डिजिटाइजेशन किया जाना है। इसके तहत जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थान जैसे सदर अस्पताल, अनुमंडल अस्पताल, रेफरल अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र , प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, उप स्वास्थ्य केंद्र व हेल्थ फैसिलिटी के  पंजीकरण का कार्य संचालित है। स्वास्थ्य संस्थानों के रजिस्ट्रेशन के लिये सिविल सर्जन को नोडल व जिला अनुश्रवण व मूल्यांकन पदाधिकारी को वेरिफायर नामित किया गया है। आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत सभी हेल्थ प्रोफेशनल व स्वास्थ्य सुविधा (हेल्थ फैसिलिटी) का पंजीकरण किया जाना है। इससे सभी पेशेवर चिकित्सा कर्मी व स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे तक आधुनिक तकनीक की मदद से आसान पहुंच सुनिश्चित करायी  जा सकेगी । इतना ही नहीं इसके माध्यम से आम लोगों को डिजिटल हेल्थ आईडी जारी किया जायेगा। इसमें लोगों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी डिजिटली संरक्षित होगी । इससे देश में कहीं भी लोगों को अपने इलाज की  सुविधा उपलब्ध हो सकेगी । 

हेल्थ फैसिलिटी का पंजीकरण 01 जुलाई तक कराने का है आदेश:

सिविल सर्जन डॉ सुनील कुमार झा  ने बताया कि आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के सफल क्रियान्वयन को लेकर राज्य सरकार के कार्यपालक निदेशक के माध्यम से महत्वपूर्ण निर्देश हैं। इसमें 01 जुलाई से पूर्व सभी हेल्थ फैसिलिटी का पंजीकरण सुनिश्चित कराया जाना है। उन्होंने कहा कि डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत लोगों को डिजिटल हेल्थ कार्ड बनाया जाना है। कार्ड में किसी व्यक्ति की  पूरी मेडिकल हिस्ट्री दर्ज होगी। चिकित्सकीय परामर्श, जांच संबंधी रिपोर्ट सहित अन्य जानकारी इस कार्ड में दर्ज होगी । लोगों को इलाज के लिये चिकित्सीय परचा, जांच रिपोर्ट सहित अन्य कागजात लेकर कहीं जाने की जरूरत नहीं होगी। कार्ड में  दर्ज 14 अंकों के यूनिक आईडी के माध्यम से चिकित्सक रोगी से संबंधित पूरी डिटेल देख सकेंगे। मरीज घर बैठे देश के किसी भी डॉक्टर से जरूरी परामर्श प्राप्त कर सकेगा । 

बेहतर होंगी स्वास्थ्य सेवाएं, आसान होगी लोगों तक पहुंच:

जिले में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के सफल क्रियान्वयन को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा बेहतर प्रयास किया जा रहा है।  जिला अनुश्रवण मूल्यांकन पदाधिकारी सुनील कुमार  ने बताया कि डिजिटल माध्यम से स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी व जरूरी सेवाओं तक लोगों की आसान पहुंच सुनिश्चित कराना योजना का मुख्य उद्देश्य है। हेल्थ कार्ड बनाने के लिये नेशनल हेल्थ मिशन की वेबसाइट पर जाकर अपने आधार के माध्यम से आसानी से डिजिटल हेल्थ कार्ड बनाया जा सकता है। 

जिले के 97% स्वास्थ्य संस्थानों का हो चुका है पंजीकरण:

सदर अस्पताल सहित जिले के 97% चिकित्सा संस्थानों का पंजीकरण हो चुका है।  जिला अनुश्रवण मूल्यांकन पदाधिकारी सुनील कुमार ने बताया 545 स्वास्थ्य संस्थानों का पंजीकरण किया जाना है जिसमें  कुल 528 चिकित्सकीय संस्थानों का पंजीकरण कराया गया है। योजना के तहत जिले में कार्यरत सभी चिकित्सक, एएनएम, पारा मेडिकल स्टॉफ सहित लगभग चिकित्सा कर्मियों का पंजीकरण आयुष्मान भारत डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत कराया जाना है!


 


Advertisements

Posted by : Raushan Pratyek Media

Follow On :


जरूर पढ़ें

Grievance Redressal Officer (Any Complain Solution) Name: Raushan Kumar   Mobile : 8092803230   7488695961   Email : [email protected]