Live

:- प्रदीप कुमार यादव की रिपोर्ट

मोतिहारी स्थित नगर भवन में स्कूल एवं अस्पताल बचाओ रैली एवं मार्च का आयोजन किया गया। रैली एवं मार्च की अध्यक्षता उमेश सिंह कुशवाहा ने की एवं मंच संचालन रामबाबू प्रसाद ने किया।

रैली एवं मार्च का मुख्य विषय:-

1) स्कूल अस्पताल को दैनीय स्थिति से मुक्त कर जन पक्षीय बनाया जाए।

2) चम्पारण जो सत्याग्रह की जन्मस्थली है। चम्पारण से एयर एम्बुलेंस सेवा बहाल कराया जाए।

3) मोतिहारी चकिया चीनी मिल के बकायदारों का भुगतान किया जाये।

4) बाढ़ सुखाड़ के निदान हेतु जल पर नवीन नीति बनाकर, पनबिजली एवं डैम का आधुनिकीकरण किया जाए। जिससे चम्पारण में किसान खुशहाल हो सके।

5) सुगौली हाजीपुर निर्माणाधीन रेल मार्ग को तेज गति से कराया जाए। हाजीपुर सुगौली से रेल मार्ग की 200 करोड़ रूपया सुपौल भेजा जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।यह चम्पारण के साथ घोर अन्याय है। इस राशि को अविलंब वापस कराया जाए।

मुख्य वक्ता के रूप में प्रदेश अध्यक्ष शत्रुधन साहू ने केन्द्र एवं राज्य सरकार को आम जनो के विरूद्ध बताते हुए नसीहत दी कि शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में दिल्ली माडल को यानि अरविंद केजरीवाल के सरकार के नीतियों को मुक्कम्ल कर संभव है।अन्यथा डपोरशंखी नारों से विकास संभव नहीं है। इससे केन्द्र एवं राज्य सरकार को जाना तय है।

        मुख्य अतिथि के रूप में डा रामानंद सिंह प्रदेश उपाध्यक्ष बिहार, बिहार की शिक्षा एवं स्वास्थ्य पर गहरी चिंता करते हुए सरकारी स्कूल एवं सरकारी अस्पतालों में बेहतर कार्य किया जाये।स्कूल एवं अस्पताल देश की रीढ़ की हड्डी हैं इसकी उपेक्षा संभव नहीं है। आमजनों का विश्वास है कि सरकार जातिवाद एवं सम्पर्दायिकता को उभार कर देश को ख़तरे में डाल रहीं हैं जबकि सरकार को बेरोजगारी खत्म करने के लिए रोजगार सृजन के दिशा में क़दम आगे बढ़ाना चाहिए।

रैली को संबोधित करने वाले में मुख्य रूप से:- विश्वकर्मा शर्मा, राकेश कुमार, अशोक कुमार,i राजीव वर्मा तथा रामबाबू प्रसाद, मुन्ना जी, मनोज कुमार।


Posted by

Raushan Pratyek Media


जरूर पढ़ें