Live

प्रखंड के नवादा पंचायत के बाजकुम में ग्रामीणों ने श्रमदान कर बनायी सड़क, पंचायत की सरकार बेखबर

बन्टी कुमार की रिपोर्ट ।।

चतरा झारखंड कुन्दा :-  कुंदा प्रखंड के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में शुमार नवादा पंचायत के बाजकुम गांव आज भी मूलभूत सुविधाओं से कोसों दूर है।जिले के भिन्न-भिन्न गांव के ग्रामीणों ने तो पक्की सड़क की मांग कर रहे थे एवं वोटों का बहिष्कार कर रहे थे।लेकिन यहां के ग्रामीणों को कहना है कि लोकतंत्र में मतदान का बहिष्कार करना उचित नहीं है।लेकिन जिस प्रकार मतदाता मतदान करती हैं, ठीक उसी प्रकार प्रतिनिधि को भी गांवो को विकास में गंभीर होना चाहिए।जबकि यहां तो कच्ची सड़क ही नहीं है लोग पगडंडियों के सहारे व विशाल पहाड़ियों से होकर प्रखंड मुख्यालय आते जाते हैं। अब ग्रामीण किसे कोसे, स्थानीय पंचायती सरकार को या फिर गांव में रहना ही छोड़ दें। जबकि पूज्य राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का कहना था कि देश की आत्मा गांवों में बसती है।लेकिन आज के वर्तमान समय में न तो सरकार गांव में विकास के लिए गंभीर दिख रही है और न तो पंचायती सरकार।पंचायत की सरकार जब बनी थी तब गांव में बसने वाले लोगों को एक आशा और उम्मीद की किरण जगी थी कि गांव का विकास तेजी से होगी और मूलभूत समस्याओं पर कार्य करेगी। लेकिन सुदूरवर्ती गांव में बसने वाले ग्रामीणों के भरोसे पर पानी फिर गया। दरअसल बात यह है कि नवादा पंचायत के बाजकुम में ग्रामीणों ने श्रमदान कर कच्ची सड़क का निर्माण किया है।उक्त गांव के लोगों का कहना है कि सरकार एवं पंचायती सरकार को कोसने से बेहतर है कि हम सभी ग्रामीणों के द्वारा श्रमदान कर सुविधाजनक कच्ची सड़क का निर्माण किया गया।।


Posted by

Pawan Kumar


जरूर पढ़ें