Live

कटिहार। रपूरे प्रदेश में लोक आस्था का  महापर्व छठ पूरे श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाया जाता है। इस महान पर्व में साफ सफाई का विशेष महत्व है। कदम कदम पर इसका ध्यान रखा जाता है। इसके बावजूद  कटिहार जिला प्रशासन पूरी तरह कुंभकर्णी नींद में सोया है। अन्य जगहों पर घाटों के किनारे जोर शोर से साफ सफाई की जा रही है मगर  कटिहार जिले के बरारी प्रखंड स्थित छठघाटों की स्थिति अभी भी पूरी तरह नारकीय बनी हुई है। घाटों के किनारे गंदगी का अंबार है चारों तरफ कचरा फैला हुआ है। छठपर्व के चार दिवसीय अनुष्ठान की शुरूआत हो चुकी है और आज खरना है। शनिवार को छठव्रतियां डूबते सूर्य को अर्घ्य को अर्पण करेंगी ऐसे में सवाल उठता है कि यही हाल रहा तो व्रतियों कैसे घाटों तक पहुंचेंगी। बावजूद इसके घाटों की साफ सफाई को लेकर न तो जिला प्रशासन गंभीर दिख रहा है। जिसे जिम्मेदारी सौंपी गई है वो भी घाटों की सफाई को नजरअंदाज कर रहे हैं। ये हाल तब है जब खुद सूबे के सीएम नीतीश कुमार ने छठ घाटों को लेकर सख्त निर्देश दिया है। स्वयं सीएम से लेकर डीएम तक मानीटरिंग कर रहे हैं। जिला प्रशासन आखिर साफ सफाई को लेकर इतना उदासीन क्यों है। देखना है कि ऐसे अफसरों पर कार्रवाई होती है या नहीं।

  


  




जरूर पढ़ें